Latest Entries »

हलाल से हलाला तक: हलाला से लेता है मौलवी कमसिन महिलाओं से मजा !
===============
November 16, 2016 76200 Views
इस्लाम में शायद ये कहीं ना लिखा हो की किसी महिला से वेश्यब्रती कराना तलाक देकर उचित है लेकिन फिर भी ये कराते है l इस्लामी पारिभाषिक शब्दों में “हलाल , और “हलाला ” यह ऐसे दो शब्द हैं , जिनका कुरान और हदीसों में कई जगह प्रयोग किया गया है| दिखने में यह दोनों शब्द एक जैसे लगते हैं यह बात तो सभी जानते हैं कि, जब मुसलमान किसी जानवर के गले पर अल्लाह के नाम पर छुरी चलाकर मार डालते हैं , तो इसे हलाल करना कहते हैं .हलाल का अर्थ “अवर्जित ” होता है . लेकिन हलाला के बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं .क्योंकि इस शब्द का सम्बन्ध मुसलमानों वैवाहिक जीवन और कुरान के महिला विरोधी कानून से है .क्योंकि कुरान में अल्लाह के बनाये हुए इस जंगली ,और मूर्खता पूर्ण कानून की आड़ में मुल्ले , मौलवी और मुफ्ती खुल कर अय्याशी करते हैं|
इस बात को ठीक से समझने के लिए अल्लाह की औरतों के प्रति घोर नफ़रत , और मुसलमानों की पारिवारिक स्थितियों के बारे में जानना बहुत जरूरी है,मुसलमानों में दो दो , तीन तीन औरतें रखना साधारण सी बात है . और फिर मुसलमान रिश्ते की बहिनों से भी शादियाँ कर लेते हैं .और अक्सर संयुक्त परिवार में रहना पसंद करते हैं .इसलिए पति पत्नी में झगड़े होते रहते हैं. और कभी पति गुस्से में पत्नी को तलाक भी दे देता है . चूंकि अल्लाह की नजर में औरतें पैदायशी अपराधी होती है , इसलए कुरान में पति की जगह पत्नी को ही सजा देने का नियम है .यद्यपि तलाक देने के कई कारण और तरीके हो सकते हैं , लेकिन सजा सिर्फ औरत को ही मिलती है . इसे विस्तार से प्रमाण सहित बताया गया है .जो कुरान और हदीसों पर आधारित है .
1. तलाक कैसे हो जाती है
पूरी जानकारी के लिए अगले पेज पर क्लिक करें और पूरी पोस्ट जरुर पढ़े और देखे कैसे मौलवी हलाला से मजे उठाते है
शेयर करके बात अधिक से अधिक लोगों तक पहुचाएं क्योकि कोई न्यूज़ चैनल ये सब नही दिखायेगा
यदि कोई व्यक्ति अपनी पत्नी के सामने तीन बार “तलाक ” शब्द का उच्चारण कर दे , या कहे की मैंने तुझे तीनों तलाक दे दिए , तो तलाक हो जाती है ..क्योंकि इस कथन को उस व्यक्ति की कसम माना जाता है .जैसा की कुरान ने कहा है ,
” और अगर तुम पक्की कसम खाओगे तो उस पर अल्लाह जरुर पकड़ेगा l तलाक के बारे में कुरान की इसी आयत के आधार पर हदीसों में इस प्रकार लिखा है ,
-“इमाम अल बगवी ने कहा है , यदि कोई व्यक्ति अपनी पत्नी से कहे की मैंने तुझे दो तलाक दिए और तीसरा देना चाहता हूँ , तब भी तलाक वैध मानी जाएगी .और सभी विद्वानों ने इसे जायज बताया है l
इमाम इब्न कदमा ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति अपनी पत्नी से कहे कि मैंने तुझे तीनों तलाक दे दिए हैं . लेकिन चाहे उसने यह बात एक ही बार कही हो , फिर भी तलाक हो जायेगा l
2. अल्लाह की तरकीब
ऐसा कई बार होता है कि व्यक्ति अपनी पत्नी को तलाक देकर बाद में पछताता है , क्योंकि औरतें गुलामों की तरह काम करती हैं , और बच्चे भी पालती हैं . कुछ पढ़ी लिखी औरतें पैसा कमा कर घर भी चलाती है . इस इसलिए लोग फिर से अपनी औरत चाहते है .
” हे नबी तू नहीं जनता कि कदाचित तलाक के बाद अल्लाह कोई नयी तरकीब सुझा दे l
और इस आयत के बाद काफी सोच विचार कर के अल्लाह ने जो उपाय निकाला है ,वह औरतों के लिए शर्मनाक है
‘तुहल्लिल लहु”शब्द आया है , मुस्लिम इसका अर्थ “wedding ” करते हैं जबकि इसका सही अर्थ कुछ और ही होता है
पूरी जानकारी के लिए अगले पेज पर क्लिक करें
 हलाला
तलाक़ दी हुई अपनी बीवी को दोबारा अपनाने का एक तरीका है जिस के तहेत मत्लूका(तलाक दी गयी पत्नी ) को किसी दूसरे मर्द के साथ निकाह करना होगा और उसके साथ हम बिस्तरी की शर्त लागू होगी फिर वह तलाक़ देगा, बाद इद्दत ख़त्म औरत का तिबारा निकाह अपने पहले शौहर के साथ होगा, तब जा कर दोनों तमाम जिंदगी गुज़ारेंगे.हलाला के बारे में कुरान और हदीसों में इस प्रकार लिखा है , और यदि किसी ने पत्नी को तलाक दे दिया , तो उस स्त्री को रखना जायज नहीं होगा . जब तक वह स्त्री किसी दूसरे व्यक्ति से सहवास न कर ले .फिर वह व्यक्ति भी उसे तलाक दे दे . तो फिर उन दौनों के लिए एक दूसरे की तरफ पलट आने में कोई दोष नहीं होगा l
इसी से ” हलालाह ” शब्द बना है . और तलाक शुदा औरत का हलाला करवाकर घर वापसी को ” रजअ कहा जाता है .
हलाला इस तरह होता है, पहले तलाकशुदा महिला इद्दत का समय पूरा करे। फिर उसका कहीं और निकाह हो। शौहर के साथ उसके वैवाहिक रिश्ते बनें। इसके बाद शौहर अपनी मर्जी से तलाक दे या उसका इंतकाल हो जाए। फिर बीवी इद्दत का समय पूरा करे। तब जाकर वह पहले शौहर से फिर से निकाह कर सकती है।
बड़े बड़े इस्लाम के विद्वान् तलाक शुदा पत्नी को वापिस रखने के लिए हलाला को सही मानते हैं ,
देखिये विडियो
4. हलाला का असली उद्देश्य
पूरी जानकारी के लिए अगले पेज पर क्लिक करें
हलाला का उद्देश्य पति पत्नी में सुलह कराना नहीं , बल्कि तलाक दी गयी औरत से वेश्यावृत्ति करना है , जो इन हादिसों से साबित होता है ,
-“आयशा ने कहा कि रसूल के पास रिफ़ा अल कुरैजी कि पत्नी आई और बोली , रीफा ने मुझे तलक दे दिया था . और मैंने अब्दुर रहमान बिन अबू जुबैर से शादी कर ली , लेकिन वह नपुंसक है , अब मैं वापिस रिफ़ाके पास जाना चाहती हूँ . रसूल ने कहा जब तक अब्दुर रहमान तुम्हारे साथ विधिवत सम्भोग नहीं कर लेता , तुम रिफ़ा के पास वापिस नहीं जा सकती .
“उम्मुल मोमिनीन आयशा ने कहा कि एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी से तीन बार तलाक कह दिया , और फिर से अपनी पत्नी से शारीरिक सम्बन्ध बनाने की इच्छा प्रकट की . रसूल ने कहा ऐसा करना बहुत बड़ा गुनाह है .. और जब तक उसकी पत्नी किसी दुसरे मर्द का शहद और वह उसके शहद का स्वाद नहीं चख लेते .
5. हलाला व्यवसाय
जिन मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में पति पत्नी में झगड़े होते रहते हैं ,वहां मुल्ले मुफ्ती अपने दफ्तर बना लेते हैं , और साथ में दस बीस मुस्टंडे भी रखते हैं .इनका काम फतवे देना होता है . चूँकि इस विज्ञानं के युग में नेट , फोन ,और फेक्स जैसे साधन सामान्य है , और उन्ही के द्वारा तलाक देने का रिवाज हो चला है . कई बार मेल या फेक्स से औरत को तलाक की सूचना नहीं मिलती फिर भी मुल्ले तलाक मानकर हलाला तय कर देते हैं .
पूरी जानकारी के लिए अगले पेज पर क्लिक करें
देखिये देवबंद का फतवा
अगर इंसान शराब के नशे में अपनी बीवी को फोन पर तीन बार तलाक बोल दे, लेकिन बाद में उसे पछतावा हो और वह तलाक न चाहता हो …तो क्या ऐसी सूरत में भी तलाक हो जाएगा’दारुल उलूम देवबंद के फतवा विभाग दारुल इफ्ता से। इस पर मुफ्तियों ने फतवा जारी किया है कि अगर तलाक नशे की हालत में दिया गया हो, तो भी पति-पत्नी का रिश्ता खत्म हो जाएगा। फोन पर दिया गया तलाक भी मान्य है। अगर ऐसा शख्स अपनी बीवी के साथ रहना चाहता है तो हलाला के सिवाय कोई दूसरा विकल्प नहीं है।
मुल्ले मुफ्ती फ़ोन से या इशारे से दी गयी तलाक को जिन हदीसों का हवाला देते हैं , उन में से एक यह है ,
-“आयशा ने कहा कि एक व्यक्ति ने सिर्फ तीन तलाक देने का इशारा ही किया था , और तलाक हो गयी , फिर उसकी पत्नी ने दुसरे आदमी से शादी कर ली .और अपने पहले पति के पास जाने की इच्छा प्रकट की . क्या ऐसा संभव है ? रसूल ने कहा जब तक उसका दूसरा व्यक्ति उसे तीसरे आदमी से सहवास नहीं नहीं करा देता , औरत पूर्व पति के पास नहीं जा सकती l
6. हलाली मुल्लों की हकीकत
चूँकि हलाला करवाने वाली औरत को किसी दूसरे व्यक्ति के साथ सम्भोग करना और उसका सबूत भी प्रस्तुत करना जरूरी होता है , और फिर ऐसे व्यक्ति को खोजना होता है , जो बाद में उसे तलाक भी दे दे, तभी वह औरत अपने पहले पति के पास जा सकती है . इस लिए इन मुल्लों ने बेकार जवान पाल रखे हैं , जो रुपये लेकर हलाला का धंदा करते है . यह लोग जासूसी करते हैं और जहाँ भी कोई शराब पीकर भी औरत से तलाक बोल देता है वहीँ हलाला करने धमक जाते हैं . विवश होकर मुर्ख मुसलमान अपनी पत्नियाँ हलाला करा लेते है, कई बार तो यह मुफ्ती फर्जी तलाकनामे भी जारी कर देते हैं .दिल्ली के पास बवाना गाँव में यही होता है .ऐसी औरतें जिनका हलाला हो जाता है , वह अल्लाह का हुक्म समझकर चुप रहती है .और मुल्लों को औरत के साथ दौलत भी मिलती है .कुछ लोग इसे बुरा भी कहते हैं ,
पूरी जानकारी के लिए अगले पेज पर क्लिक करें और जाने लखनऊ की सत्य घटना
7. लखनऊ की सत्य घटना
दिनांक 8 मार्च 2011 इतवार को India Times की लखनऊ संवाद दाता मंजरी मिश्रा ने एक चौंकाने वाली खबर दी थी . जिसने मुताबिक दोपहर के समय करीब 200 मुस्लिम महिलाये , सिर्फ दुपट्टा सर पर डाले हुए मुस्लिम वूमेन पर्सनल बोर्ड के दफ्तर में घुस गयीं . वह नारे लगा रही थी की मुस्लिम ख्वातीन को मुल्लों से बचाया जाए ,
जो फर्जी तलाकनामे बनाकर उनको हलाला करवाने पर दवाब डालते रहते है, या तलाक को रद्द करने के लिए रूपया मांगते हैं . उन औरतों का नेतृत्व शाइस्ता अम्बर कर रही थी .कुछ औरतों ने ऐसे मुल्लों की धुनाई भी कर दी थी .
देखिये विडियो

#Justice_Katzu का कथन #90% भारतीय मूर्ख हैं यहाँ सत्य प्रतीत होता है
क्योंकि
नाम के आगे #पंडित लगाना कोई सोची समझी साज़िश का हिस्सा लगती है..?
वैसे ग़यासुद्दीन ग़ाज़ी का पोता ब्राह्मण कैसे हो सकता है..?
और अगर ये सच में कश्मीरी पंडित परिवार से था तो इसके और इसकी ही पार्टी के राज में कश्मीरी पंडितों को कैसे मारा और बंदूक़ की नोंक से भगाया जा सकता है..?
जवाहर खान नेहरू और काँग्रेस के मुस्लिम तुष्टीकरण और हिंदु विरोधी रवैये के पीछे क्या रा़ज़ है..?
मैं ख़ुद एक ब्राह्मण हुँ और कोई वजूद नहीं है मेरा फिर भी मुझे कश्मीरी पंडितों की दयनीय हालत देख पीड़ा होती है और उनके लिए कुछ कर गुज़रने का ख़याल आता है फिर अगर ये परिवार ब्राह्मण परिवार है तो इस संदिग्ध परिवार को पीड़ा क्यों नहीं हुई कभी..?
फ़िक्र इन्हें हमेशा मुल्लों की ही रही और नाम के आगे पंडित क्या सिर्फ़ ब्राह्मणों को बदनाम करने के लिए लगाया ताकि अगर ये कोई भी ग़लत काम करें तो दोष हिंदुओं और ब्राह्मणों पर लगे जिससे घृणा के पात्र केवल ब्राह्मण बनें।

ममता जी को जवाब [अवैध बांग्ला वासियोको रक्षण देनेके बारेमे ]
===========
अपने शोहर को तलाक देके भगाया या आप विधवा हो गई इसका कुच सत्य बाहर आया नहीं तो  तोक्या  आप बहुत ताकत वर हो गई ? जो एक देश भक्त इन्सानको तू राजनीतिसे उखाड़ फेकने को बोलने लगी ,क्या बंगालमे बांग्ला देशी ओ  को बसाके इस देश के साथ घोर कृत्य करना चाहती हो इस देश के मुसलमान फिर कहा जायेगे ,और बाहरके लोगोकोल अवैध बसाके आपका क्या इरादा है ? हिंदुस्तानका नक्सामे विकृति पैदा करनेका तो इरादा  तो नहीं ?
टाटा को इसीलिए तो भगाया नहीं ,ताकि बागाला वासियोको वहां बसा शके ?
===प्रहलादभाई प्रजापति

अकबरुदीन ओबेसीको राष्ट्र गान के विरोध का जवाब
================================
जब तमहारे कोई रिस्तेदार का जनाजा निकलता है तो क्यों खड़े होक चलके लेके जाते हो ,बैठे बैठे  क्यों नहीं लेजाते ,वहां क्यों सीधा रहता है और कोई दलील नहीं करते ,क्या आपके साथ कौनसी भाषामे बात करना गद्दार ,और डेड बोडीको दफनाया क्याहो जाता है उसको जलाया क्यों नहीं जाता ,ऐसी बाटमे क्या कोई इंसानियत या मानवाधिकार या कोई किसी तरह का विरोध क्यों नहीं करते ,हिन्दू स्तान के संविधान के दायरेमें रहके बात किया करो आप को बोलने का अधिकार दिया है इसका मतलब ये नहीं की आप देश को गाली बको और दूसरे समाजके लोगोकी भावनाओंको आहत पहुचाओ ,ऐसा अधिकार कतई नहीं
===प्रहलादभाई प्रजापति

નોટબંઘીનો વિરોધ કરનારી કોંગ્રેસને મારે ફકત ત્રણ જ પ્રશ્ન પુછવા છે, જે ક્ષત્રિયોને લગતા છે.

1. જે રીતે આપણે બેંકમાં કે RBI માં કોઈ રકમ ફિક્સ ડિપોઝીટ તરીકે મુકીયે તો તેના પર વ્યાજ મળે છે. તેવી જ રીતે ભારત દેશ આઝાદ થયો ત્યારે રાજાઓ એ પોતાના રજવાડા અને ખજાનો દેશ માટે સરદાર વલ્લભભાઈ પટેલને આપી દીધેલા, ત્યારે સરદાર પટેલે તેમને 1 થી 2 % લેખે સાલયાણું આપવાનું નકકી કરેલું. આ સાલયાણું કોંગ્રેસે બંધ કરી નાખીયું ત્યારે રાજાઓના ખજાનાઓ પર સજિઁકલ સ્ટ્રાઈક કરવામાં આવી ત્યારે તમે કેમ કોંગ્રેસે દેશ હિતમાં રહેનારા રાજાઓને થયેલ અન્યાયનો વિરોધ નહોતો કરીયો.

અમારા રાજાઓને સાલયાણા ફરીથી શરુ કરાવો તો હું કોંગ્રેસની સાથે છું. સાલયાણું કોંગ્રેસે બંધ કરીયું ત્યારે કહેલું કે હરામ ના અને લોકાના લોહીની કમાઈ છે, માટે બંધ કરીયું. તો નોંટ બંધી પણ લોકાના લોહીની કમાણી બહાર લાવવા જ થયેલી છે.

2. સાલયાણા ના વિરોધના થાય માટે મંત્રીથી માંડીને તમામ ના પગારમાં વધારો કરેલ તે પાછો ખેંચો તો બંધને મારું સમથઁન છે. જો લોક સેવક છો તો તમારે વધારા ના પગારની કયાં જરૂરત છે.

3. ઈન્દીરા ગાંધીએ જયારે ખેડે તેની જમીન અને રહે તેનું મકાન નો નિયમ બનાવીને રાજા, રજવાડા અને ક્ષત્રિયોને બરબાદ કરી નાખીયા. ત્યારે કોંગ્રેસે તેમના નિણઁયનો વિરોધ નહોતો કરીયો. આજે ઇ- પ્રોપટીઁ દ્રારા જયારે મોદી સરકાર બેનામી પ્રોપટી પર લગામ લગાવવા માંગે છે ત્યારે તેનો વિરોધ કોંગ્રેસ કરે છે. તો શું તમારા મકાન,જમીન તમારી મહેનતની મુડી છે તો શું અમારા મકાન, જમીનો અને સંપતિ અમારા મહેનત અને લોહીની કમાણી નોહતી ?

સરદાર પટેલના એ છેલ્લા શબ્દો યાદ છે. ” મૈં મારા દેશને સારા માણસો ના હાથમાં લઇને, આ ચોર અને લુટારા નેતાઓના હાથમાં આપી દીધો છે. ” જયારે તમે સાલયાણું બંધ કરીયું, અમારી જમીન જાગીરો છિનવી લીધી ત્યારે તમારા બધા ખોટા નિણઁયો પણ સાચા હતા જયારે કોઇએ તમારા કાળા નાણા પર બ્રેક મારી તો દેશપ્રેમ ફુટી નિકળીયો છે. જયારે રાજાઓના બલિદાનોની અવગણના ઇન્દીરા ગાંધી અને કોંગ્રેસે કરી ત્યારે તમારી દેશ ભક્તિ કયાં મરી ગયી હતી.

આજે ચોરોની હડતાલ છે
================
ઘરના દરવાજા ખુલ્લા રાખવા આજે  ચોરોની હડતાળ છે
તિજૉરીએ તાળાં  મારવા નહિ આજે  ચોરોની હડતાળ છે
વેપર રોજગાર કરવા દિલથી  કેશબોક્ષ ગલ્લા ખુલ્લા રાખીને
ડકૈતી ફિરેંતી લૂંટફાટનો ભય નથી આજે ચોરોની હડતાળ છે
પ્રજાનો હવાલો લઇ પ્રજાને છેતરે ચોર શાહુકાર મોંસેરે ભાઈ
70 વર્ષોથી રમતના માહિર ખેલાડી ચોરોની આજે હડતાળ છે
સરકારી ઝેડ પ્લસ સિક્યુરિટીની સલામતી સાથે લૂંટે છે  દેશને
અધમૂઈ લોકશાહીને મળી આઝાદી ચોરોની આજે હડતાલ છે
ખબરીયા દલાલો મથે પ્રજાને ભરમાવા લઇ લોકશાહીને હવાલો
ભાષાની ભુલવણીમાં માહિર ખેલાડી સાથે  ચોરોની હડતાળ છે
ટોળાંશાહીની લોકશાહીના દલાલોની તિજૉરીએ તાળાં મોદીનાં
તાળું તોડવાના ઉધામા વિરોધ પાર્ટી પક્ષો ચોરોની હડતાળ છે
કરો ધંધા મોજથી શટરો ખુલ્લા રાખી  જનતાના સહ વાસથી
શાનો ડર  કે ભય નેતાગીરીની પડતાળછે ચોરોની હડતાળ છે
===પ્રહલાદભાઈ  પ્રજાપતિ    [  28  / 11 /  2016 ]

फारुख अब्दुल्लाह का देश द्रोही बयान
======================
ये देश द्रोही खानदान का मुखिया फारुख अब्दुल्लाह का बयानसे अब ये तो पक्का साबित हो गया की जब कोई इंसान जोरसे बोले यानी बोखलाके बकवाट करने लग या तो समझना की मोदिनीन कही न कहि उनकी चावी टाईट  की  है ,या उनके रिस्तेदारोंकी या फिर उनके गर्भित दोस्त [पाकिस्तान ] की हवा बराबरकी टाइट कर दी है ,तब जाके उनका ज़हर उगलने लगता है ,अब पाकिस्तन जो उनका चाहिता दोस्त और गर्भित रिस्तेदार को जो आज मोदीजीने उसकी ओखात दिखा दी है ,ये फारख अब्दुल्लाह फेमिली कभी भी भारतकी होनेवाली नहीं है बल्कि भारतको लूटने में ही उसकी सब गेम  रही है। उसके बापकी तरह उसको जेलमे बांध कर देना चाहिए उनको  उनकी  मुराद बर नहीं आने देनेकी ,वो चाहते है की भारत पाकिस्तान से फिर से टेबलपे चर्चा करे खो की अब उनके सभी राते बंद होते दिखाई दे रहे है
===प्रहलादभाई प्रजापति

 *काँग्रेस पार्टी की कुछ राजनीति की भूली-बिसरी यादे जिनको भुला दिया आप सबने आज वो बाते फ़िर से हम आप सबको याद दिला रहै है ।*
==========================
*१:- यूपी के लोग भिखारी होते हैं-* ( राहुल गाँधी कांग्रेस उपाध्यक्ष )
*२ :- पंजाब के 70% लोग नशेड़ी होते हैं-* ( राहुल गाँधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष )
*३ :- 90% बलात्कार तो लड़की की मर्जी से होते हैं–* धरम वीर गोयत ( हरयाणा कांग्रेस, कांग्रेस प्रवक्ता )
*४ :- बीवी पुरानी हों जाये तो मजा नहीं आता–* ( श्रीप्रकाश जैसवाल, कोयला मंत्री कांग्रेस )
*५ :- महंगाई अच्छी है, ये तो ऐसे ही बढ़ेगी–* ( पी चिदंबरम कांग्रेस )
*६ :- बलात्कार तो हर जगह होता है–* ( रेणुका चौधरी, कांग्रेस )
*७ :- सोनिया जी कहेंगी तो झाड़ू भी लगाउँग–* ( भक्त चरणदास, कांग्रेस )
*८ :- पाकिस्तान के हिंदुओं को अपने ऊपर हों रहे अत्याचार के सबूत देने होंगे–* ( सुशील शिंदे, कांग्रेस )
*९ :- मैं सोनिया जी के लिए जान तक दे दूँगा–* ( सलमान खुर्शीद, कांग्रेस )
*१० :- बोफोर्स की ही तरह कोयला घोटाला भी जनता भूल जायेगी–* ( सुशील शिंदे, कांग्रेस )
*११:- हमारे सैनिकों को पाकिस्तान की सेना ने नहीं बल्कि उनकी वर्दियों में आतंकवादियों ने मारा है-* ( एके एंटनी, कांग्रेस )
*१२ :- पुलिस और सेना के लोग मरने के लिए ही होते हैं–*( भीम सिंह कांग्रेस )
*१३ :- पीने के लिए पानी नहीं है तो क्या बांधों में पेशाब कर के ला दूं-* ( अजीत पवार, कांग्रेस )
*१४ :- महंगाई ज्यादा सोना खरीदने की वजह से बढ़ रही है–* ( पी चिदंबरम, कांग्रेस )
*१५ :- पुलिस अल्पसंख्यक वर्ग के युवाओं को बेवजह परेशान ना करे-* ( सुशिल शिंदे, कांग्रेस )
*१६ :- पैसे पेड़ पर नहीं लगते–*( मनमोहन सिंह, कांग्रेस )
*१७ :- हमारे पास कोई जादू की छड़ी नहीं है, जिससे महंगाई पर काबू किया जाये–* ( मनमोहन सिंह, कांग्रेस )
*१८ :- गरीबी सिर्फ दिमाग का वहम है–* ( राहुल गाँधी, कांग्रेस )
*१९ :- इस देश को हिन्दुओ से ज्यादा खतरा है–* ( राहुल गाँधी, कांग्रेस )
*२० :- बटाला हाउस में आतंकवादियों के मरने पर सोनिया जी बहुत रोयीं थीं-* ( सलमान खुर्शीद, कांग्रेस )
*२१:- सत्ता ज़हर है और माँ मेरे कमरे में आके रात में रोयीं थी-* ( राहुल गाँधी, कांग्रेस )
*२२:- देश के संसाधनों पे पहला हक़ मुसलमानों का है-* ( मनमोहन सिंह, कांग्रेस )
*२३:- भारत को RSS से ज़्यादा खतरा है न कि इस्लामिक आतंकवाद से-* ( दिग्विजय सिंह, कांग्रेस )
*२४:- केवल मुस्लिम लड़की ही हमारी बेटीयां हैं-* ( अखिलेष यादव, सपा )
*२५ :- इसरत जहाँ मेरी बेटी है-* ( नितीश कुमार )
*२६:- ओसामा जी-* ( दिग्विजय सिंह, कांग्रेस )
*२७ :- श्री सईद साहब-* ( सुशिल शिंदे, कांग्रेस )
*२८:- राम एक कल्पना है* ( कांग्रेस )
*२९ :- भगवा और तिलक को देख कर गुस्सा आता है-* ( मणी शंकर अय्यर, कांग्रेस )
*३० :- मैं हिन्दू नही हूँ-* ( मनीष तिवारी, कांग्रेस )
*31 :- क्या टंच माल है।।।* ( दिग्विजय सिंह, कांग्रेस )
*32 :- पाँच रुपये में गरीवों को भरपेट भोजन मिल जाता है महँगाई कहाँ है-* ( राज बबर, कांग्रेस )
*33 :- गरीबी एक सोच है मानसिक बीमारी है-* ( राहुल ग़ांधी, कांग्रेस )
*34 :- रामायण एक कहानी है राम कभी पैदा नहीं लिए और राम सेतु राम ने नहीं बनाया* ( कांग्रेस )
*35 :- राम एक पियक्कड़ थे-* ( करुणा निधि, कांग्रेस )
*36 :- जो लोग मंदिर जाते है लड़की छेड़ते है-* ( राहुल ग़ांधी, कांग्रेस )
 *तीन कांग्रेसियों की कहानी*
*1:- मुफ्ती मोहम्मद सैयद केंद्र में गृह मंत्री -* 8 दिसम्बर 1989 मुफ्ती की बेटी रूबिया सैयद का अफहरण *नतीजा 13 आतंकियों की रिहाई ||*
*2 :- सैफुदीन सौज पार्टी के वरिष्ट नेता -* अगस्त 1991 को सौजी की बेटी नाहीदा सौज का अपरहण *नतिजा जेल में बंद 7 आतंकियों की रिहाई ||*
.
*3 :- गुलाम नबी आजाद -* तब कांग्रेस के सीएम उम्मीदवार अब राज्यसभा में विपक्ष के नेता 22 सितम्बर 1991 आजाद के साले तासादुक्क का अपहरण  *नतीजा 21 आतंकियों की रिहाई ||*
*आओ आज इन सबके महान कार्यों को याद करें और बिना हिचकिचाहत के इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके हम दुसरे ग्रूप फ़ारवर्ड़ करे …*✍

आज लोक सभामे गुगा बोलने लगा
===================
खोंग्रेसके राजमे  गूंगे को बोलनेकी दवाई देनेवाला इनके साथी दारोमे  कोई नहीं था और किसीकी हिमंत भी नहीं थी  ये तो मोदीजीने उसको नॉट बंधीकी सिरप पिलाई है जो गुगा राज सभामे बोलने लगा

પ્રહલાદ પ્રજાપતિ

Subhash Kumar shared Sanjay Dwivedy’s photo.
‘आप’ और ‘केजरीवाल’ पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा। ‘आम आदमी पार्टी’ है हिन्दू विरोधी और देशद्रोही……… http://www.bharatleaks.orgक्या आप इस देशद्रोही और हिन्दूविरोधी पार्टी के साथ है जो राजनीती में आने से पहले ही अपनी ओकात दिखा चुकी है…. मुस्लिम वोट के लिए इनका तुष्टीकरण देखिये- 1. भारतीय आर्मी के दो जबान के सर पाकिस्तानी सैनिको ने काट दिए पर केजरीवाल जी का कहना है पाकिस्तान से जंग नही होनी चाहिए ( मुस्लिम तुष्टीकरण एबम देशद्रोह) लिंक देखिये – http://timesofindia.indiatimes.com/india/Pak-army-act-unpardonable-but-war-is-undesirable-Kejriwal/articleshow/18049289.cms (जबकि सभी पार्टियों ने पाकिस्तान के खिलाफ बयान दिया था) 2. अफजल गुरु की फांसी से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की बदनामी हुई है।- ( मुस्लिम तुष्टीकरण एबम देशद्रोह) लिंक देखिये- http://hindi.yahoo.com/national-10191838-111003850.html (काफी मुस्लिम ने अफज़ल की फांसी का विरोध किया था) 3. भारतीय आर्मी कश्मीरी लोगो को मारती है- ( मुस्लिम तुष्टीकरण एबम देशद्रोह) लिंक देखिये http://www.greaterkashmir.com/news/2013/Mar/6/army-responsible-for-killing-of-kashmiris-prashant-bhushan-41.asp (कश्मीर में मुस्लिम चाहते है…

View original post 2,153 more words