वाह मेरी न्याय पालिका वाह
================
कही १३  सालके मुकदद्मे को  ३ घँटोमे बेल
कही  सात सालोसे  जेलमे  परं न कोई बेल

माल मालदा खाने वालेको  टेलेफोन पे  बेल
और कही  केस फ्रेम ही नहो कहाकि बात बेल

न्याय के तराजू को भी माप तोलके न्यारे है तोल
तोल मोल के बोल नहीतो लग जायेगी लम्बी जेल

यहां तो  भाव  में  बिकते है  बोल धर्म जाती तोल
मुल्ले , ईसाई तो मालिक है इनके न्यारे बड़े खेल

धर्म  भी बिकता है लेनेवाला , देने वाल ही चाहिए
सुनामी, धरती कप बाढ़ में इसु अल्लाह ईश छुट्टी पे
===प्रहलाद प्रजापति

Advertisements