हिन्दुस्तानी न्याय पालिका.

हिन्दुस्तानी  न्याय  पालिका
=================
हिन्दुस्तानमे न्याय पालिकाके दो तराजू  संतुलन में नहीं  है
कही एक ज्यादा उचे उठता है तो कही वोही तराजू निचे भी बैठता है
जैसा वजन होता है वैसा तराजू  ऊँचे निचे  होता रहता है  कभी
संतुलनमे  नहीं बैठता , ये हाल  हुवा है इन सेक्युल्ल्रोके , और मुगलोके
वंशजो के  राजमे , जो न्याय को भी खरीद या बेच ते  है , कही  गुन्हागारको
बिरियानी  तो कही बिना केस दर्ज किये लोगोको जेलमे डालके सही  खान भी  नहीं
===प्रहलाद प्रजापति

Advertisements