मित्रों।लाखों की संख्या में मुस्लिम इस घृणा और मारकाट के मजहब को छोडकर दुसरे धर्म अपना रहे है ।
कारण क्या है :

1.इंहोने अल-तकिया के झूठ बोलकर जो अपना शांति का भ्रम फैलाया था वो भ्रम अब टूट गया है ।

2.बिकाऊ मीडिया ने तो डर से कभी इनकी वास्तविकता सामने नहीं रखी।पर सोशल मीडिया ने इस क्रांति को संभव किया है ।

3.अब सबको पता चला है कि इनका पैग़म्बर मोहम्मद कैसा निर्दोषो का हत्यारा ,हिंसक ,सेक्स विकृत ,आदमी था ।

4.सिद्ध हो चूका है कि इस्लाम आतंकवादियो का मजहब है ….चाहे ये कितना भी अल-तकिया करें।सभी आतंकी मुस्लिम ही होते हैं क्योंकि कुरान में निर्देश है काफिरों को मारने और आतंक फ़ैलाने का।

5.नारी का शोषण :मोहम्मद नारी को सिर्फ भोग की वस्तु मानता था ।यही सभी मूसल भी मानते है ।उसने कहा था कि नारी नर्क में जायेगी ,नारी का दिमाग आधा और नारी कुत्ते/गधे समान है।

अब मुस्लिमो के इस झूट में न आये कि ये सब्से तेजी से फैलता मजहब है ।
इनके इंडोनेशिया में हर वर्ष 20 लाख मूसल दुसरे धर्मो को अपना रहे है ।इनके इतने हाथ पैर फूल गए है कि इन्हें save maryam अभियान चलाना पड़ा।उसे आप गूगल करके स्वयं देख सकते है ।
प्रमाण के लिए क्लिक करें।इस प्रमाण में खुद मुस्लिम site का भी लिंक है।

http://www.ummah.com/forum/showthread.php…

Advertisements