Jasawant Singh's photo.
Jasawant Singh

“ये साहित्यकार नहीं बल्कि कांग्रेस के पोषित कांग्रेसी चापलूस और नौटंकीबाज हैं”

कांग्रेस पोषित और चापलूस साहित्यकारो की कलई अब पूरी तरह से खुल चुकी हैं जो कांग्रेस से करोडो रुपये ले कर लगातार देश और पुरे बिश्व में बढ़ रही मोदी सरकार की कद को कम करने के लिए अमेरिका और चीन से मिल कर देश में एक बवाल खड़ा करना चाहते हैं ताकि बिहार में हो रहे चुनाव को प्रभावित किया जा सके I

ये सारी साजिस सिर्फ और सिर्फ बिहार चुनाव को प्रभावित करने की हैं और मेरा दावा हैं की बिहार चुनाव ख़त्म होते ही ये सब फुर्र हो जायेगे I

ये सारे साहित्यकार कहा थे जब कश्मीर में हिंदवो को मार कर भगाया जा रहा था, ये सब तब कहा था जब पुरे देश में सीखो का कत्लेयाम किया गया था, ये कहा थे जब दामिनी काण्ड हुआ था, ये कहा थे जब देश में कांग्रेस के द्वारा इमरजेंसी लगाई थी, ये सब कहा थे जब देश में एक महिला लेखिका तसलीमा नसरीन पर हमला किया गया था ?

ये साहित्यकार नहीं कांग्रेस पोषित चापलूस हैं जो किसी भी कीमत पर मोदी सरकार के बढ़ते कद को कम कर कांग्रेस के साथ अपनी नमक हलाली साबित करना चाहते हैं और कांग्रेस ने इसी वक़्त के लिए इन्हें पाल कर पोस कर इतने बर्षो से रखा हैं I

सोचे जरा

Advertisements