वाह पत्रकारिता वाह
============
इंडिया   टीवी वाले रजतजी को ,कश्मीरी पंडितो की सहनशीलता नहीं दिखती , जिन्होंने पूरी जिंदगी एक निराश्रित की तरह गुजारी है ३० सालोसे जो लोग नरक की जिंदगी जी रहे है  अपने ही देश में निराधार है और ३० सालोसे वहीवटी आतकवाद को जेल , अपना सब कुछ लुटाके ,उनकी टोलरेन्सी नहीं दिखती
पर ,एक खोंग्रेसी ,और देशका नमक खाके सुपर स्टार बन गया है देश का नमक खाके ,उसकी इंटॉलरेंसी  दिखती है , वाह पत्र्कारिता वाह ,उनकी आपकी बात
पोग्राम में   प्रति हमदर्दी  दिखाई देती है ,वाह पत्रकारिता वाह
===प्रहलादभाई प्रजापति

Advertisements