ललित माहेश्वरी
जब प्रधानमंत्री नेहरु को गाल पर पडा था एक चांटा.!!
जो बयान कल खडगे ने लोकसभा मे दिया है इसी बयान पर नेहरू को सार्वजनिक रूप से गाल पर चांटा पड चुका है, काश लोकसभा मे रविन्द्र रैना जैसा भाजपा का कोई सांसद होता।
भारत की चीन से हार के बाद.. अजमेर के एक कार्यक्रम मे PM नेहरू आए… वेद संस्थान द्वारा आयोजित कार्यक्रम मे बोलते हुए..
नेहरू ने कहा, “इस देश मे हमेशा से ही शरणार्थियो का स्वागत किया गया है। यहां शक आए, हूण आए, मुस्लिम आए, अंग्रेज आए, आर्य आए और यहा की संस्कृति मे घुलमिल गए।”
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मुख्य अतिथि आर्य संन्यासी अपने मंच से उठे और नेहरू को जोरदार थप्पड जड दिया..!! और माइक अपनी ओर करके संन्यासी बोले..
“आर्य कही से आए नही, यही के मूल निवासी है। सबूत मे हूं…मेरे बाप-दादा सब यही पैदा हुए… उनके बाप- दादा सब यही पैदा हुए, लेकिन आप इस देश के मूल निवासी नही… आपकी रगो मे हिन्दुस्तानी नही अरबी खून है आपकी जगह पटेल प्रधनमंत्री होते तो हम चीन से हारते नही, वरन तिब्बत भी भारत का अभिन्न होता।।”
————————————
((विदेह गाथा: एक आर्य संन्यासी की डायरी, पृष्ठ 637 संस्करण भाद्रपद 2037 विक्रमी…से साभार))

((बाद मे इन आर्य संन्यासी ने एक किताब लिखी नेहरू: उत्थान और पतन…जो 1963 मे बैन हो गई थी।))

Gs Dusane's photo.
Advertisements