Sanjay Dwivedy's photo.
Sanjay Dwivedy

इतिहास कभी गद्दारों को माफ़ नही करता … आज कुछ अखबारों में पढ़ा की भारत के बड़े गद्दारों में से एक जुनागढ़ के नबाब महावत खान बाबी का पोता कल करांची में प्रेस कांफ्रेस करके कहा की मेरे दादाजी ने पाकिस्तान आकर सबसे बड़ी भूल की है .. मेरा और मेरी फेमिली ही नही बल्कि पालनपुर के नबाब के पोते भी अब भारत वापस जाना चाहते है ..

जुनागढ़ का नबाब अपनी रियासत को पाकिस्तान में मिलाना चाहता था … उसने मोहम्मद अली जिन्ना से मदद मांगी .. असल में जिन्ना भी जुनागढ़ रियासत में आने वाले उपलेटा का मूल निवासी था .. फिर जिन्ना और जुनागढ़ के नबाब ने मिलकर गुजरात की एक अन्य मुस्लिम रियासत पालनपुर के नबाब को भी पाकिस्तान के साथ जाने के लिए राजी कर लिया …

जैसे ही सरदार पटेल को इसकी भनक लगी उन्होंने तुरंत ही जूनागढ़ पर हमला कर दिया .. लड़ाई छिड़ी .. केशोद एयरफिल्ड जिस पर पाकिस्तानी विमान आने वाले थे उसे नष्ट कर दिया गया … बाद में नबाब पाकिस्तान भाग गया ..लेकिन चूँकि उसकी रियासत पाकिस्तान को नही मिली इसलिए उसे पाकिस्तान में एक बोझ ही माना गया ..