भारत की ज्यूडिशियरी की ताकत अभी तक किसीके दबावमें है यानि गुलाम है
=====================
सर्फ कमजोर लोगोको  सजादेंको माहिर है ,किसी लुच्चा,लफंगा, चोर,भ्रस्टाचारी,बेईमान ,चैत्र ,सोपारीबाज,नौटंकीबाज,या किसी देश द्रोही  को सजादेनेमे  इतनी सक्षम नहीं जितनी कोई ,बिचारा ,गरीब, निर्शन ,या सच्चा ,देश भक्त  को  ही सजा
देती है ,ये ही हमारे देशकी कमनसीबी है ,वो जोर जुल्म ,और कभी कभि जूथ के तो कभी मनी पावर आगे जुक जाती है , तो कभी सत्ताके सामने जुक जाती है और सच्चा न्याय नहीं क्र्पाती
और इसीलिए ,लालू, केजरी ,दाऊद, तेलगी, चिदंबरम ,शरद पवार ,सोनिया, राहुल ,शरद यादव , कन्हिया ,उमर खालिद , वामपंथी ,,  माया
कसी खोंग्रेसी जयचंद कई न्यायपालिकके बड़े बड़े जज ,कई ललित मोदी, कई माल्या ,जो इस कानून के डायरी के बाहर रहने और कानूनके खा पि जाते है ,और
भगतसिंह ,सुखदेव, राजगुरु,सुभाषा चन्द्र बॉस, लाल बहादुर शाश्त्री ,वीर सावरकर , और कई देश भक्त और ये देश के कई इस देश के सामान्य जन सभी ये नायपालिकाके शिकार हो जाते है / या बनाये जाते है जिस राज साध्वी प्रज्ञा ,कर्नल पुरोहित ,आशाराम बापू ,और कई संत को जनभुजके शिकार बनाया जाता है ैसिराज रमत के आगे देश में देश द्रोहियोका राज होता है और इस देश को
विदेशियोसे बचाना होगा , अंग्रेजो के आनेके बाद भी हम लोग परोक्ष रीते अभ भी हम गुलाम है ये खान्ग्रेसी और सेक्युलरोसे जो लोग इस देश को तोड़ रहे है और चूस रहे है आम जनताको भलाई के नामसे और विकासके नामसे उल्लू बना रहे है और ६० सालोसे एक ही परिवारसे देश चला रहे है
जो परिवार कृायल और देश द्रोही है जो मुगल वंशज देश को लूटने आयेथे अभी उनका ये डकैती
लूट खोरी जारी है देश की गरीब और अज्ञान प्रजा ये समझनेमें काफी अज्ञान है ,अगर देश को बचाना है तो खोंग्रेस मुक्त भारत होना चाहिए तब जाके देश का असली विकास होगा और देश के गरीब
बिछड़े लोगोका भला होगा और उन्नति होगी समाजमे से असमानता भी दूर होगी सभी लोग सुखी होगे तो सही सोच पाएंगे और बिना किसी दबावमें आये सही लोग को देशका नेता चुन पाएंगे रर
लेकिन हमें फिर भी उस पर भरोसा यानि विस्वास है ये देश की सज्जनता है
===प्रहलादभाई प्रजापति [ २२ / ४ /२०१६ सिएटल ,वशॉटन यु एस ए ]

Advertisements