टी एस ठाकुर जैसे लोगोने ही न्याय पालिका को कमजोर करनेमे सहयोग दिया है
===================================================
इनकी असलियत मालुम हो गई वो जड्ज होने के लायक ही नहीं थे पर खोंग्रेस इन्दिराके गुलाम थे और उनके चमचे थे इसीलिए उन लोगोने न्याय पालिकामे भर्ती करकर फैसले सभी खोंग्रेसके फेवरमे लानेके लिए ही न्याय पालिकामे ठोक बिठाये थे पूरी न्याय पालिका को कमजोर करनेमे उनका सहयोग रहा है ,उनकी सी बी आई जाँच होनी चाहिए
नौकरीके दरमियान जो जो फैसले दिए है उनकी भी जाँच होनी चाहिए और उनकी संपत्ति के बारेमे भी इन्क्वायरी योनि चाहिए , ऐसे लोगोने न्याय पालिका और कानूनका गलत इस्तेमाल किया
उसका पता चल जाएगा और देश को सच्चाईका पता चलेगा
===प्रहलादभाई प्रजापति

Advertisements