न्याय पालिकामे राजा शाही और वंश वाद
==========================
न्याय पालिकामे भी राजा शाही और वंश वाद की नीति ,क्या इस देश को अपनी और अपने पुरखोंकी जायदात समज बैठे हो ? अपने उत्तरा धिकारी बनाके देश को बाण में रखना चाहते हो क्या ? और कानुनको अपनी दूकान समाज बैठो हो क्या ? नीति और वफादारीकी आड़मे कानुनको
अपनी सत्ता समझ बैठे हो क्या ? ६० सालोसे देश को बर्बाद करनेमे और न्याय को कमजोर करनेमे ऐसे न्याय धीशोने उनका रोल अदा किया ,उसका पता तो मोदी सरकार आनेके बाद देश को पता चला
गुन्हा गारोको बचानेके लिए रातको १२ बजे भी न्याय पालिका के दरवाजे खोलने वाले ऐसे जजवका पैट भी ये मोदी सरकार आनेके बाद ही पता चला
===प्रहलादभाई प्रजापति

Advertisements