बहुत बड़ा दुर्भाग्य हैं इस भारत की मिटटी का जो बार बार कर्तव्य को खोखले लोगो के सामने अग्नि परीक्षा देनी पडती हैं !!! मैं थूकता हूँ ऐसे समाज पर जिसे एक कर्मयोगी के त्याग में उसकी महत्वकांक्षा दिखाई देती हैं , मैं मूतता हूँ ऐसे समाज पर जिसे एक सच्चे माँ भारती के सपूत का त्याग दिखाई नही देता !!!

बहुत से नटवरो को मोदी जी का राष्ट्र के प्रति समर्पण एक ढोंग नजर आता हैं , ये वो चमन चूतिये हैं जो अपने घर में दही जमाने के लिए उसी पड़ोसी के दरवाजे पर कटोरी बजायेंगे जिसकी ये रोज बुराई करते नही थकते !!! तुमसे क्या मांग लिया मोदी जी ने भाई ??? जिस वक़्त उनकी भतीजी जीवन मृत्यु की शैया पर थी उस वक़्त माँ भारती के इस लाल ने चीन की आँखों में अपने पारिवारिक दर्द को भूलकर समूचे भारत के दर्द के डोरे दिखाये थे , वो तब G 20 जैसे अहम सम्मेलन को छोडकर भारत नही आये थे !!!

जिस आदमी ने विदेशी दौरों पर कभी अपना लगेज सिर्फ इस वजह से चैक इन नही किया कि जब सोना ही विमान में हैं तो क्यों समय नष्ट किया जाए ???

जिस आदमी ने समय को इतना पूजा हैं कि अपना नाश्ता अपनी दवाईया तक चलती कार में खाता हैं , ऐसे कर्मयोगी पर तुम उंगली उठाओ जिनका पिछवाड़ा ह्गकर नही उठता ???

ये जो कर्तव्यपरायणता की भावना हैं ना नटवरो ??? ये तुम्हारी मस्तराम सरीखी बुद्धि में नही आने वाली !!! अरे जिस आदमी के परिवार का सदस्य चला गया उसे संतावना देना तो दूर तुम उसे ही कठघरे में खड़ा कर रहे हो ???

चंद्रशेखर आजाद से किसी ने एक बार पुछा कि तुम इतना पैसा उगाहते हो इसमें से कुछ पैसा अपने बूढ़े माता पिता को क्यों नही दे देते जो दयनीय अवस्था में जीवन जीने को मजबूर हैं ??? आजाद बोले कि पहले तो वो अकेले मेरे माता पिता नही हैं , वो सभी क्रांतिकारियो के माता पिता हैं और जिस दिन तुम लोग उनकी सेवा करने में असमर्थ हो जाओगे उस दिन मेरी पिस्तौल की गोली उनकी भी सेवा कर देगी !!! इसे कहते हैं त्याग … इसे कहते हैं राष्टपुत्र !!!

अपने दिल पर हाथ रखकर जवाब देना जितने आज मोदी जी का विरोध यह कहकर कर रहे हैं कि उन्हें परिवार पर ध्यान देना चाहिए , क्या उन्होंने कभी अपने परिवार से अलग कभी किसी का सोचा हैं ???

मेरा दावा हैं कि उसने अपने परिवार का भी कभी नही सोचा होगा देश का तो छोडिये जनाब !!!

एक बात याद रखना कि मोदी जी ने आज सतयुग का एहसास करवा दिया हैं जिसे तुम नही समझोगे मस्तरामो ……..

व्यथित ह्रदय से वंदेमातरम्

Advertisements