मेरा देश बदल रहा है
=============
एक बुजुर्ग आदमी को नोट बदलते , बैंक की लम्बी लाइन मे, लाठी के सहारे खड़ा देख कर मीडिया का एक रिपोर्टर बुड्ढे के पास जाकर कहा ,
कितने साल के हो बाबा ?
बुड्ढे ने बताया 84 साल।
रिपोर्टर– नोट बदलने बेटों को भेज दिया होता?
बुड्ढा — मेरी कोई औलाद नही है
रिपोर्टर—ओ हो तो इस बुढापे मे मोदी जी की वजह से अाप को कष्ट झेलने पड़ रहे हैं ?
बुड्ढा — नही बेटा मैं नोट बदलने नही ,देश बदलने के लिए लाइन मे खड़ा हूँ
रिपोर्टर—बाबा अगर देश बदल भी गया तो आप कितने दिन और जियोगे ऒर अाप के बच्चे भी नही। फिर किसके लिए।
बुड्ढा — मैने इस देश मे अपना बचपन ,जवानी, बुढ़ापा बिताया क्या मेरी कोई भी जिम्मेवारी नही बनती कि हम देश की चिन्ता करे ।अब मोदी के कौन से बाल बच्चे हैं जो उसने इतना बड़ा खतरा मोल ले लिया है…

Advertisements