हिंदुस्तान को हिंदुस्तान न रहने देनेकी  सेक्युलरोंकी साजिस
==========================
●मुस्लिम साथ दे, तो हम BJP को हरा देगें ।
– मायावती (यह कथन लोकतंत्र है)
●मुसलमान और यादव को एकजुट होकर अपनी ताकत दिखानी चाहिए ।
– लालू प्रसाद यादव (यह कथन भी लोकतंत्र है)
●मुस्लिम और दलितों को एक हो जाना चाहिए !
– केजरीवाल (यह भी लोकतंत्र है)
●मुसलमान और यादव हमारी ताकत है!
– मुलायम सिंह (यह भी लोकतंत्र है)
●मुसलमान मेरे दिल में है!
मुसलमान मेरा भाई है।
इसलाम मेरी रूह है!
-ओवैसी (यह भी लोकतंत्र है)
● मुसलमान और दलित इस देश की आत्मा में बसे हैं।
– राहुल गांधी (यह भी लोकतंत्र है)
● सिख और मुस्लिम उनको जवाब दें ।
– संजय सिंह (यह भी लोकतंत्र है)
● ईसाईयों को यह जान लेना चाहिए कि अब तक उनके साथ सिर्फ धोखा हुआ है!
– केजरीवाल (गोवा में -यह भी लोकतंत्र है)
●मुसलमानों ने मिलकर इनकी (हिदुओं की) औकात दिखा देनी चाहिए!
– छोटा ओवैसी (यह भी लोकतंत्र है)
●मुसलमान हमारी पार्टी की नींव हैं, हम इसे कैसे अलग कर सकते हैं, मुसलमान ही तो हमारी ताकत हैं।
– आजम खान(यह भी लोकतंत्र है)
पर भारत में अगर कोई हिंदुत्व की बात कर दे, हिंदुओं एक हो जाओ कह दे, तो वो सांप्रदायिक है!
वह देश की जनता को भड़का रहा है, देश मे अशांति फैलाने का प्रयास कर रहा है!
गंगा जमुनी संस्कृति में दरार पैदा कर रहा है! ….
वर्तमान परिस्थिति में हमारे देश में हिंदुत्व की बात करना सांप्रदायिकता कहलाता है!
सांप्रदायिकता व देश में तनाव फैलाने की कोशिश माना जाता है!
बाकी कोई कुछ भी कह ले सब लोकतंत्र है!
🚩🚩
अब फैसला आपको करना है कि आपको देश ओर धर्म को चुनना है या गंदी ओर घिनौनी राजनीति का गुलाम बनना है ।
जरा सोचिए
जब देश के मुसलमान खुले मंच से BJP को कभी वोट ना देने का एलान कर सकते है तो क्या आखिर कभी आपने सोचा है क्या BJP एक आतंकवादी संगठन है? जिसका मुसलमान खुलकर विरोध करते है । लेकिन ये विरोध एक पार्टी का नही ये विरोध देश के विकास ओर हिंदू धर्म के विस्तार का है तो क्या हम जात पात से ऊपर उठकर देश ओर धर्म की रक्षा के लिए मोदी जी का साथ दे ।
जय श्री राम
जय हिंदू

Advertisements