कपिल मिश्रा की बगावत के पीछे ये है असली कारण!

आम आदमी पार्टी के नेता और अरविंद केजरीवाल के बेहद करीबी समझे जाने वाले कपिल मिश्रा की बगावत को लेकर तरह-तरह की अटकलें लग रही हैं। यह सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर वो कौन से हालात थे, जिनमें कपिल मिश्रा को अचानक ये बड़ा कदम उठाना पड़ा। एक करीबी ने निजी बातचीत में दावा किया है कि कपिल मिश्रा को शक हो गया था कि अरविंद केजरीवाल उनकी हत्या करवा सकते हैं। यही कारण है कि उन्हें खुलकर बगावत के लिए मजबूर होना पड़ा। इस करीबी का दावा है कि कपिल मिश्रा को केजरीवाल और सत्येंद्र जैन की लेनदेन का पता चलने के साथ ही वो खतरे में आ गए थे। उन्होंने जब इस बारे में केजरीवाल से बात करने की कोशिश की तो जिस तरह का जवाब उन्हें मिला उससे वो समझ गए थे कि पहले खुद को बचाना ज्यादा जरूरी है। इसके बाद कपिल ने खुलकर हमले बोलने का फैसला किया। क्योंकि पार्टी में रहते हुए चुप रहने का अब कोई विकल्प नहीं बचा था।

जान से मारने की धमकी

केजरीवाल की कथित रिश्वतखोरी का चश्मदीद गवाह बनने के बाद कपिल मिश्रा को डर था कि उनके साथ कुछ भी अनहोनी हो सकती है। यह डर सही भी साबित हुआ जब उन्हें धमकियां मिलनी शुरू हो गईं। कपिल मिश्रा के पास पिछले कुछ दिनों में अनजान नंबरों से धमकी भरे फोन और मैसेज आए हैं। उनको इन धमकियों की सच्चाई के बारे में अच्छे से पता है, इसीलिए वो इन्हें गंभीरता से ले रहे हैं। इस बारे में उन्होंने दिल्ली पुलिस को भी सूचित किया है। फिलहाल दिल्ली पुलिस ने कपिल मिश्रा को सुरक्षा दे रखी है।

केजरीवाल को लिखी चिट्ठी

इस सारे विवाद के बीच कपिल मिश्रा ने केजरीवाल को चिट्ठी लिखकर कुछ चुभते सवाल पूछे हैं। इसमें भी उन्होंने अपनी मौत की बात का इशारा किया है। उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि- सर, आपके पांच साथी संजय सिंह, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन, राघव चड्ढा और दुर्गेश पाठक की पिछले दो सालों की सारी विदेश यात्राओं की जानकारी कृपया सार्वजनिक करें।कई लोगो ने कहा है कि ये जितना भी हवाला का पैसा, चंदे की गड़बड़ी, कैश लेनदेन की बातें है इन सबका सच एक पल में सामने आ जायेगा अगर ये जानकारियां सार्वजनिक हो जाएं। धरना नही कर रहा, सत्याग्रह कर रहा हूँ। आपके घर के बाहर नहीं बैठ रहा, अपने यहां एक कोने में बैठूंगा, अकेला। पर जब तक ये जानकारियां सार्वजनिक नही की जाएंगी तब तक कुछ नहीं खाऊंगा। सिर्फ जल ग्रहण करूँगा। मुझे पता है आपको मेरे मर जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे भी चिंता नहीं। ये मामला पूरे देश से जुड़ा है। आज ये जानकारियां सामने नहीं आई तो कल और गलत काम होंगे। इन सबकी विदेश यात्राओं के डिटेल्स और इन यात्राओं में खर्च किया गया पैसा कहां से आया। कहाँ-कहाँ गए, क्यों गए, क्या क्या किया और किसके पैसो से ये सब किया गया। आपने हमेशा कहा कि हमारे पास चुनाव लड़ने के भी पैसे नहीं है फिर इन विदेश यात्राओं के पैसे कहाँ से आये?
बहुत छोटी से मांग है, जरा सी। अगर कुछ छिपाने को नही है तो बताने में 5 मिनट लगेंगे।
मुझे किसी ने कहा है कि ये जानकारियां सामने आने के बाद आपको जनता एक पल भी कुर्सी पर नहीं रहने देगी। ऐसा क्यों? क्या राज छुपे है इन यात्राओं में। और हां, अब फिर वो ही रटारटाया बहाना नही चलेगा कि मैं BJP का एजेंट हूँ, आज ही क्यों पूछ रहा हूँ, पहले क्यों नहीं पूछा।
स्पष्ट जवाब चाहिए। कृपया बताएं। आपके जवाब का इंतजार

Advertisements