सबसे बड़े हिन्दू संगठन पर बैन लगाकर ईसाई धर्म लाने की शुरुवात करना चाहती थी : सोनिया गांधी
=======================
भारत में कई धर्मों के लोग रहते हैं, मुस्लिम, इसाई, पारसी और भी बहुत! अल्पसंख्यक का ठप्पा लगाकर इनकी अधिकारों के लिए लड़ने देश में कई सेक्युलर आ खड़े होते हैं! जिनमें से एक है कांग्रेस पार्टी! हिन्दुओं के अधिकारों से इन्हें आपत्ति है, इनका बस चले तो ये हिन्दुओं को अपने देश में अल्पसंख्यक कर दे, जिसके आसार नज़र आ ही रहे हैं! धर्म परिवर्तन का जो धंधा देश में छुप कर चला रहा है, उसके बारे में बड़ा खुलासा हुआ है!
कांग्रेस की महा महीम और सबसे बड़ी Sickular सोनिया गांधी बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाकर भारत में हिंदू धर्म को कमज़ोर कर, इसाई धर्म चाहती थी!
जी हाँ, विकिलीक्स ने ये खुलासा किया है! लेकिन, सोनिया गांधी का बजरंग दल पर बैन लगाने का सपना पूरा न हुआ! पूर्व राष्ट्रिय सलाहकार एम के नारायणन के विरोध की वजह से ऐसा न हो पाया!बजरंग दल जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ परिवार से जुड़े हुए हैं और जिनका उद्देश्य हिंदुत्व को बढ़ावा देना है! वेटिकन और अन्य इसाई मिशनरी, भारत में हिंदुओं को नियंत्रित करना चाहते हैं!
ये भी पढ़े :   इस खानदान ने लूट लिया देश : अकेले दिल्ली में 8 लाख करोड़ की जमीन है इनके पास
इसी कड़ी में गरीब लोगों, दलितों को निशाना बनाकर, उनका धर्म परिवर्तन किया जाता है! वेटिकन बहुत समय से हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन करने के लिए प्रयासरत है और ये लोग, इस कार्य में काफी हद तक सफल भी हो रहे हैं.
लेकिन, एक बड़ी अनहोनी होने से बच गई, और सोनिया गांधी के हिंदुविरोधी इरादों का भी पर्दाफाश हुआ! देखिये और क्या षड्यंत्र रचे जा रहे थे हिन्दुओं के खिलाफ
भारत तो एक धर्म निरपेक्ष देश है, जब यहां अन्य धर्मों के समूह, संस्थाएं और संघटन अपने धर्म को मज़बूत करने के लिए कार्य करते हैं! तो अपने ही देश में हिंदू धर्म का प्रचार करने पर प्रतिबंध क्यों??
सोनिया गांधी की असलियत सामने आ गई, और अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो भारत में हिन्दुओं का क्या हाल होगा, इसका अंदाज़ा भी आप लगा सकते हैं
source:allindiapost.com/hindu-dhram-pr-ban-lagakar-isai-dhrm-lane-ki-suruat-karne-vali-thi-soniya-gandhi/
Advertisements