किसी एक परिवारका देश पर लम्बे समय से कब्जा होनेसे देश की बर्बादी की तवारीख
===================================
=देश को नुक्सान ही हुवा है
=देश का विकास नहीं बल्कि देश को लुटा गया है
=एक टॉफी मुस्लिम तुस्टी कर्ण की नीतिसे देश में विभाजनकी स्तिति पैदा कर दी है
=साजिस के तहत देश में हिंदुओंका स्तर कम हुवा jb की मुस्लिमोंका स्तर बढ़ा है
= देश में दूसरी कई जातियों है जो लागुमटिमे है लेकिन उनको लागुमटिका दर्जा नहीं दिया गया
=देश को तोड़नेके साजिसके तहत गुंडे ,लुटेरे ,डकैत ,और देश द्रोही पैदा किये गए
=जो नीतियों कल्याण कारी के नामसे बनाई गई उसमे साजिसके तहत कुछ जाने माने लोगोको ही
लाभ करवाया गया और उसी तरह आम जनताको मुर्ख बनाया
=सेक्युलरिज़्म की आदमी देश में ज़हर फैलाके हिन्दू मुस्लिम को लड़वाया और मुस्लिम की
तरफदारी करके लोगोमे ज़हर और विघटन की बी लगादिये
= सेक्युलरिज़्म की आड़मे हिंदुओंका पतन ,और सततं धर्म का पतन की और बढ़ावा किया
=देश की मिट्टीके लोग न होनेसे देश की मिट्टीसे जुड़े लोगोका दर्द न समज पाए और गरीबी बधाई
=अपनी मूल संस्कृति भुलाके विदेशी संस्कृति को बढ़ावा किया और मूल संस्कृतिको भुलानेकी हर
तरकीब और योजनाए की
=नकली नाम धारण करके देश को और सारी संसद को मुर्ख बनाया
= देश की नागरिकता न होने पर बी ही देश पे कब्जा जमायाखा जिसकी वजहसे देश बर्बाद हुवा
=देश को टुकडेमे बॉटनेकी हर साजिस रचाई
= देश को लूटके संपत्ति बनाई और विदेशोंमें भी लूट के ले गए
= अभ भी उनका पेट नहीं भरा है ,और लोगोमे भरम फैलाके सत्ता हासिल करनेकी हर साजिस
करते रहे है देश कई जयचंदोका और देश द्रोहियोका सहारा लेके
= ऐयाशी , भोगी और हवस खोर लोग सतामे बढ़ते गए
===प्रहलादभाई प्रजापति

Advertisements